जत्थेदार बाबा तेजा सिंह की जीवनी | Jathedar Baba Teja Singh History in Hindi

जत्थेदार बाबा तेजा सिंह की जीवनी | Jathedar Baba Teja Singh History in Hindi
बाबा तेजा सिंह का जन्म 1839 में खजान सिंह के पुत्र और उनकी माता रावलपिंडी (पाकिस्तान) से सुगो थीं। वे 1907 में बुड्डा दल के जत्थेदार बने। वे कांच से कड़ा पीटकर बहुत ही असामान्य तरीके से कीर्तन करते थे। वह 22 वर्षों तक बुधदल के जत्थेदार के रूप में रहे। उन्होंने 90 साल का सामान्य जीवन व्यतीत किया और 1929 में उनका निधन हो गया। उनका गुरुद्वारा अमृतसर में अकाली फूला सिंह के बुर्ज के पास स्थित है।

आपको हमारी यह जानकारी कैसी लगी मुझे इस बारे में जरूर बताएं और अगर आपका कोई सवाल है तो comments में पूछे। और इस पोस्ट को शेयर करता न भूलें। धन्यवाद।

एक टिप्पणी भेजें