दोआब किसे कहते हैै? पंजाब के दोआबों के बारे में जानकारी

दोआब किसे कहते है? - पंजाब के मैदानों को पांच दोआबों में वांटा जा सकता है। दोआब एक क्षेत्र है जो दो नदीयों के बीच में स्थित होता है।  प्रत्येक दोआब का नाम इन नदियों के पहले अक्षरों को मिला कर रखा गया था। जैसे कि ब्यास और सतलुज के पहले अक्षरों को मिलाकर बिसत शब्द बनता है।
दोआब किसे कहते हैै? पंजाब के दोआबों के बारे में जानकारी

पंजाब के पाँच दोआब

  1. दोआब बिसत जालंधर - ब्यास और सतलज नदियों के बीच के क्षेत्र को दोआब बिसत जालंधर इस कहा जाता है क्योंकि यह प्रसिद्ध शहर जालंधर में स्थित है। होशियारपुर, फगवाडा ओर कपूरथला भी इसमें स्थित हैं।
  2. बारी दोआब - ब्यास और रावी नदियों के बीच का मैदान को बारी दोआब कहा जाता है। पंजाब के केंद्र में होने के कारण, इसे माझा (Majha) भी कहा जाता है। माजा के क्षेत्र को मझैल कहा जाता है। अमृतसर और लाहौर प्रसिद्ध ऐतिहासिक शहर इसमें स्थित हैं।
  3. रचना दोआब - रावी और चनाव के बीच का भाग को रचना दोआब कहा जाता है। शेखुपुरा और गुजरांवाला (दोनों पाकिस्तान में) के शहर इस दोआब में स्थित हैं।
  4. चज दोआब - चिनाब और झेलम नदियों के बीच चज दोआब के प्रसिद्ध शहर हैं - गुजरात, भीरा और शाहपुर।
  5. सिंध सागर दोआब - यह दोआब में झेलम और सिंध नदियों के बीच स्थित है। यहाँ कम वारिश होती है। इसलिए, यह अन्य दोआबों की तुलना में कम उपजाऊ है।

इन पांच दोआबों के अलावा, पंजाब के कुछ अन्य मैदान भी हैं। सतलज और घग्गर नदियों के बीच के क्षेत्र को मालवा (Malwa) कहा जाता है। इसका यह नाम इस लिए पड़ा कयोंकि प्राचीन काल में यहा मालवा नामक एक कबीला रहता थी। इसीलिए इस क्षेत्र के लोगों को मालवई कहा जाता है। इसमें लुधियाना, पटियाला, नाभा, संगरूर, सरहिंद, फरीदकोट और बठिंडा के शहर शामिल हैं। घग्गर और यमुना नदियों के बीच के मैदान को बांगर या हरियाणा कहा जाता है। इसके प्रसिद्ध शहर अंबाला, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, जींद, रोहतक, गुड़गांव और हिसार आदि हैं। इसके इलाबा पंजाब के दक्षिण पश्चिम में मुल्तान, बहावलपुर और सिंध के इलाके भी हैं। यह बहुत कम वर्षा वाले रेतीले क्षेत्र हैं, इसलिए यहाँ पैदावार भी बहुत कम है और आबादी भी कम है।

जलवायु और भूमि - सभी पंजाब में समान जलवायु और भूमि नहीं है।  लतीफ (Latif) का विचार है कि "पूर्व में किसी भी देश की प्राकृतिक विशेषताएं उतनी भिन्नता नहीं मिलती हैं जितनी पंजाब में पाई जाने वाली पांच नदियों की भूमि में हैं।"  यहां ऊंचे पहाड़, छोटी पहाड़ियां, हरे-भरे जंगल, हरी-भरी घाटियां, उपजाऊ मैदान और सूखे रेगिस्तान सब कुछ हैं। ऐसे क्षेत्र भी हैं जहाँ तापमान 18°F (बर्फ जमने के बिंदु के नीचे) है और ऐसे क्षेत्र भी हैं जहाँ तापमान मई जून में 100°F तक पहुँच जाता है। पर्वतीय क्षेत्रों में वार्षिक वर्षा 70" से 120",  तराई में 30'' से 40'' तक, उत्तरी मैदानों में 20" से 26'' तक होती है और कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जहाँ वार्षिक वर्षा केवल 5" से 11'' तक होती है। पंजाब के मैदानों में मई जून के महीनों के दौरान झुलसा देने वाली गर्मी ओर लूह पडती है। जुलाई से सितंबर तक बारिश होती है। अक्टूबर, नवंबर, दिसंबर, फरवरी और मार्च के शुरुआती महीनों में  पंजाब का मौसम सुहावना होता है। दिसंबर-जनवरी में कडाके की सर्दी पडती है। पंजाब की जलवायु आम तौर पर सर्दियों में अत्यंत ठंडा और खुश्क होता है और गर्मियों में बेहद गर्म होता है।

दोस्तों आज इस पोस्ट में हमनें आपको दोआब किसे कहते है ओर पंजाब के दोआबों के बारे में जानकारी दी है। उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी। अगर आपका कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट बाक्स में पुछ सकते हो।

टिप्पणी पोस्ट करें